फिर से बिगड़ेगा मौसम, मार्च के पहले हफ्ते में होगी बारिश

अंबिकापुर । द्रोणिका और चक्रवात के असर से पिछले दिनों उत्तरी छत्तीसगढ़ में हुई भारी ओलावृष्टि व बारिश से राहत मिली ही थी कि एक नया सिस्टम (पश्चिमी विक्षोभ) पाकिस्तान के रास्ते राजस्थान में प्रवेश कर रहा है। इसके चलते एक बार फिर सरगुजा संभाग का मौसम बिगड़ने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक एक से तीन मार्च के दौरान कई इलाकों में तेज हवा के साथ हल्की बारिश और ओलावृष्टि की संभावना है।

इस साल फरवरी माह में सर्वाधिक बारिश व ओलावृष्टि से उत्तरी छत्तीसगढ़ में किसानों व ईंट भठ्ठा व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ है। पिछले दिनों चक्रवात व द्रोणिका के असर से सूरजपुर, सरगुजा एवं बलरामपुर जिले के कई इलाकों में तेज हवा के साथ भारी ओलावृष्टि हुई थी।

इससे रबी की फसल के साथ खेतों व बाड़ियों में लगी सब्जियां बर्बाद हो गई थी। इस प्राकृतिक आपदा से अभी लोग उबर भी नहीं पाए हैं कि एक और पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से किसानों की चिंता और बढ़ गई है।

मौसम वैज्ञानिक एएम भट्ट ने बताया कि पाकिस्तान के रास्ते राजस्थान में एक नया पश्चिमी विक्षोभ प्रवेश कर रहा है। इसके चलते 29 फरवरी को मध्यप्रदेश, विदर्भ और छत्तीसगढ़ का मौसम बदल जाएगा। एक से तीन मार्च के दौरान सरगुजा सहित बलरामपुर, सूरजपुर जिले में कुछ इलाकों में गरज-चमक के साथ बारिश व ओला गिरने की संभावना है।

फरवरी में हो चुकी है सौ मिमी बारिश

लगातार सक्रिय हुए पश्चिमी विक्षोभ के चलते इस साल ठंड में बारिश का रिकार्ड बन गया है। इस महीने ही करीब सौ मिमी रिकार्ड बारिश हो चुकी है। जनवरी में भी करीब पचास मिमी बारिश हुई थी। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार होली के बाद ही इससे राहत मिलने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *