ओमकारेश्वर में सुबह 3 बजे खुले पट, 11 बजे तक 30 हजार लोगों ने किया दर्शन

ओंकारेश्वर । महाशिवरात्रि पर्व पर भगवान ओमकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शनों का सिलसिला शुक्रवार को अलसुबह 3:00 बजे से शुरू हुआ। नर्मदा स्नान और भगवान भोलेनाथ के दर्शनों के लिए एक दिन पहले से ही भक्तों का यहां आना शुरू हो गया था। शिवरात्रि पर मंगला आरती के बाद भक्तों को दर्शन के लिए मंदिर के पट खोल दिए गए थे।

11:00 बजे तक लगभग 30 हजार लोगों ने ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग और ममलेश्वर भगवान का दर्शन-पूजन और अभिषेक किया। मंदिरों के साथ ही तीर्थ नगरी के सभी घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ रही। महाशिवरात्रि पर ओंकारेश्वर के विभिन्न आश्रम और मठों के संत, महामंडलेश्वर व महंतों ने नर्मदा स्नान कर ढोल, बैंड-बाजों के साथ नगर में शोभायात्रा निकाली।

महामंडलेश्वर अध्यक्ष हनुमानदास महाराज बर्फानी धाम के नेतृत्व में सभी संतजन ओंकारेश्वर मंदिर पहुंचे। महाशिवरात्रि पर उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं ।मंदिर और नर्मदा घाटों पर पुलिस बल की तैनाती के अलावा वीआईपी गेट से दर्शन पर प्रतिबंध लगा हुआ है।

एसडीएम ममता खेड़े ने बताया कि भगवान ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के कर्मचारियों को छुट्टी पर नहीं जाने के निर्देश दे दिए हैं। नर्मदा नदी के सभी घाटों पर मंदिर ट्रस्ट द्वारा सुरक्षा नावें लगा दी गई हैं। अधिकारियों, कर्मचारियों के साथ ही कोटवारों की सेवा भी ली जा रही है।

ओंकारेश्वर मंदिर ट्रस्ट के सहायक कार्यपालन अधिकारी अशोक महाजन और पंडित आशीष दीक्षित ने बताया कि मंदिर के कर्मचारी पूरी रात्रि मंदिर परिसर गर्भगृह में तैनात रहेंगे। पुलिस प्रशासन ने महाशिवरात्रि पर उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए आदि गुरु शंकराचार्य तिराहे, पुराने बस स्टैंड जेपी चौक पर बेरिकेड छोटे वाहनों के नगर प्रवेश पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *