राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक आज, निर्माण की तारीख और मुहूर्त पर होगा मंथन

नई दिल्ली. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण गठित ‘राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट की आज यानी बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पहली बैठक होगी. दरअसल सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केंद्र सरकार ने इस ट्रेस्ट का गठन किया था. बुधवार को होने वाली इस ट्रस्ट की बैठक में मंदिर निर्माण के मुहूर्त सहित कई विषयों पर विचार किया जा सकता है.

सूत्रों के मुताबिक, ट्रस्ट की पहली बैठक बुधवार शाम को बुलाई गई है. इसमें उस सुझाव पर भी चर्चा किया जा सकता है कि क्या मंदिर निर्माण के लिए आम लोगों से सहयोग राशि ली जानी चाहिए या नहीं. ट्रस्ट की बैठक में शिलान्यास के मुहूर्त से लेकर निर्माण पूर्ण होने के लिए समयसीमा निर्धारित करने के मुद्दों पर भी चर्चा की जा सकती है. इसमें पारदर्शी तरीकों पर खास तौर पर ध्यान दिया जायेगा, ताकि ‌भविष्य में किसी तरह के विवाद से बचा जा सके. इसमें मंदिर के निर्माण के दौरान रामलला के रखने के स्थान को लेकर भी चर्चा की जा सकती है.

5 फरवरी को किया था ट्रस्ट का ऐलान

सूत्रों के अनुसार, बैठक में ट्रस्ट के अन्य पदाधिकारियों के बारे में भी चर्चा की जा सकती है. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद केंद्र सरकार ने मंदिर निर्माण के लिए 5 फरवरी को ट्रस्ट का ऐलान किया था.

ट्रस्ट में हैं 15 ट्रस्टी

उल्लेखनीय है कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में 15 ट्रस्टी हैं, जिसमें से एक ट्रस्टी हमेशा दलित समाज से होगा. इस बीच बीजेपी और मंदिर आंदोलन से जुड़े कई नेताओं ने ट्रस्ट में एक ओबीसी समाज के प्रतिनिधि को शामिल करने की मांग की थी. मंदिर निर्माण से जुड़े सारे फैसले ट्रस्ट ही लेगा. हालांकि, विश्व हिंदू परिषद ने कहा है कि अगर ट्रस्ट कहेगा तो मंदिर के लिए फंड जुटाने का काम वीएचपी कर सकती है.

महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट में किए जा सकते शामिल

बैठक में महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट में शामिल करने पर चर्चा हो सकती है. वह शुरू से ही मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे हैं. साथ ही उन्हीं के मठ से मंदिर आंदोलन का संचालन होता था. ऐसे में उम्मीद जताई जा रही हैं कि महंत नृत्यगोपाल दास और वीएचपी के चंपत राय को ट्रस्ट में शामिल किया जा सकता है. शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती के मुताबिक ट्रस्ट की पहली बैठक में इसके गठन के साथ मंदिर निर्माण शुरू करने की तारीख तय करने पर चर्चा होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *