मध्यप्रदेश भाजपा में बढ़ेगा RSS का दखल, दूसरी पंक्ति के नेताओं को मिलेगा महत्व

भोपाल। मध्यप्रदेश भाजपा में अध्यक्ष के रूप में युवा तुर्क विष्णुदत्त शर्मा की ताजपोशी से इस बात की संभावनाएं बढ़ गई हैं कि संगठन में अब राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का दखल बढ़ेगा। शर्मा की टीम में अब दूसरी पीढ़ी के उत्साही नेताओं की पूछ-परख बढ़ेगी। प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत और नवनियुक्त अध्यक्ष शर्मा दोनों ही मूलत: संघ के प्रचारक हैं इनके बीच समन्वय भी अच्छा है।
नवनियुक्त प्रदेश भाजपा अध्यक्ष शर्मा सोमवार को अपना कार्यभार संभालेंगे। उनकी ताजपोशी के साथ पार्टी की अंदरूनी सियासत में होने वाले संभावित बदलावों को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं। संघ के करीबी होने के नाते अब यह माना जा रहा है कि पार्टी में संघ की सलाह को ज्यादा तवज्जो दी जाएगी। ग्वालियर, बुंदेलखंड, मध्यभारत और मालवा अंचल में पार्टी के पास कई वरिष्ठ नेता हैं उनकी तुलना में ‘वीडी” काफी युवा और जूनियर भी हैं इसलिए सभी नेता और गुटों के बीच संतुलन बनाए रखने की हर समय चुनौती रहेगी।
नई टीम पर रहेगी सबकी नजर
भाजपा संगठन में फिलहाल तो सबकी नजरें ‘वीडी” की नई टीम पर रहेंगी। उनके सामने पार्टी में ज्यादातर सभी वरिष्ठ नेता हैं इसलिए सबसे बड़ी अग्नि परीक्षा नेताओं को सक्रिय और एकजुट करने की रहेगी। ग्वालियर अंचल में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, कप्तान सिंह सोलंकी, अनूप मिश्रा, डॉ नरोत्तम मिश्रा, जयभान सिंह पवैया, प्रभात झा एवं यशोधरा राजे सिंधिया सहित कई वरिष्ठ नेता हैं।
मालवा में सुमित्रा महाजन, विक्रम वर्मा, कैलाश विजयवर्गीय, सत्यनारायण जटिया, थावरचंद्र गेहलोत, नंदकुमार सिंह चौहान, विजय शाह जैसे नेता हैं। बुंदेलखंड में उमा भारती, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल, वीरेंद्र कुमार, गोपाल भार्गव, जयंत मलैया, भूपेंद्र सिंह, महाकौशल-विंध्य में केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, राकेश सिंह, राजेंद्र शुक्ला। मध्यभारत में शिवराज सिंह चौहान, गौरीशंकर शेजवार, डॉ सीतासरन शर्मा, कमल पटेल के अलावा उमाशंकर गुप्ता आदि सभी उम्र और अनुभव में वरिष्ठ हैं। नए अध्यक्ष के सामने ऐसे नेताओं के साथ समन्वय और शीघ्र ही होने वाले पंचायत व स्थानीय निकाय चुनाव के लिए गांव-गांव तक रणनीति बनाने की चुनौती रहेगी।
होगी ताजपोशी
नवनियुक्त शर्मा को पार्टी की कमान सौंपने का जब एलान हुआ उस वक्त वह मंदिरों के शहर पन्नाा में थे। रात को वह जबलपुर पहुंचे और सुबह से रामराजा सरकार के दर्शन पूजन करने ओरछा जा पहुंचे। इसके बाद वह अपने गृह नगर पहुंचकर माता-पिता से आशीर्वाद लेंगे और सोमवार को शताब्दी एक्सप्रेस से भोपाल के लिए रवाना हो जाएंगे। हबीबगंज स्टेशन से वह सीधे भाजपा मुख्यालय पहुंचेंगे और अपरान्ह 4 बजे वह पदभार संभालेंगे। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर,थावरचन्द्र गेहलोत, प्रहलाद पटेल, व फग्गनसिंह कुलस्ते सहित निवृत्तमान अध्यक्ष राकेश सिंह, शिवराज सिंह चौहान सुमित्रा महाजन एवं उमा भारती सहित अन्य पूर्व अध्यक्ष व संगठन महामंत्री सुहास भगत भी मौजूद रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *