घर से भागे दो बच्चें ने बस स्टैण्ड पर गुजारी रात कैटरिंग में किया काम

एक बच्च घर पहुंचा जबकि दूसरा अभी भी है लापता, गुमशुदगी की दर्ज
बैतूल। पिटाई के डर से घर से भागे दो नाबालिगा भाईयों ने पहले बाड़ी से लौकी तोड़ी और उसे 30 रुपए में बेचकर बैतूल आए। यहां पर बस स्टैण्ड पर रात गुजारी और शादी समारोह में कैटरिंग में काम किया। इसके बाद दोनों बच्चों को कैटरिंग में मिले 100-100 रुपए में एक बच्चा जहां घर पहुंच गया और वहीं दूसरा अभी भी लापता है। परिजनों की सूचना पर सांईखेड़ा पुलिस ने गुमशुदगी का प्रकरण दर्ज कर लिया है।
21 जनवरी को भागे थे घर से
सांईखेड़ा थाना प्रभारी रत्नाकर हिंगवे ने बताया कि सांईखेड़ा के ग्राम उभारिया निवासी अजय पिता सुनील उइके एवं रामकुमार उइके दोनों की उम्र लगभग 13 वर्ष गांव में मस्ती कर रहे थे। इस दौरान किसी को इन्होंने अपशब्द कह दिए जिससे दोनों की शिकायत ग्रामीण ने इनके परिजनों से की। इसके बाद परिजन इन्हें डांटने-मारने के लिए दौड़े तो यह दोनों घर से 21 जनवरी को भाग गए और सीधे खेत-बाड़ी में पहुंचे।
30 रुपए में ढाबे पर बेची लौकी
थाना प्रभारी श्री हिंगवे ने बताया कि दोनों अजय और रामकुमार काका-बाबा के लड़के हैं। दोनों ने बाड़ी से लौकी तोड़ी जिसे पंखा-ससुंद्रा के पास के ढाबे पर 30 रुपए मेें बेच दी। इसके बाद दोनों बैतूल आ गए और यहां पर दोनों ने बस स्टैंड पर रात बिताई और कैटरिंग में काम किया। जहां दोनों को भोजन के साथ-साथ 100-100 रुपए मिल गए। इसके बाद रामकुमार उइके अपने घर उभारिया चला गया जबकि अजय नहीं गया।
पैसा कमाने के बाद आऊंगा गांव
रामकुमार को अजय पिता सुनील उइके ने कहा कि वह पहले पैसा कमाएगा और उसके बाद गांव आएगा। थाना प्रभारी श्री हिंगवे ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में रामकुमार ने जहां-जहां मैरिज गार्डनों में काम करना बताया था वह सभी जगह वह घूम चुके हैं। इसके अलावा बस स्टैण्ड पर भी इसकी पुष्टि हुई है कि दोनों यहां पर रात में रूके थे। लेकिन इसके बाद 24 जनवरी को रामकुमार बैतूल से आमला पहुंचा और यहां से पैदल उभारिया अपने घर पहुंच गया। जबकि अजय को चलने का कहने पर उसने कहा कि वह पहले पैसा कमाएगा उसके बाद गांव आएगा।
सभी जगह छोड़ा है मैसेज
सांईखेड़ा थाना प्रभारी श्री हिंगवे ने बताया कि उन्होंने अजय पिता सुनील उइके की तलाश के लिए सभी पुलिस के गु्रप में सूचना दे दी है। साथ ही फोटो भी पोस्ट की है। उन्होंने बताया कि यह दोनों बच्चे इसके पहले भी घर से भाग गए थे जो कि कुछ दिनों के बाद वापस आ गए थे। लेकिन बच्चों का मामला देखते हुए उन्होंने तत्काल प्रभाव से गुमशुदगी दर्ज कर तलाश प्रारंभ कर दी है। श्री हिंगवे ने बताया कि जल्द ही बच्चे को ढूंढ लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *