पांसे के घर ब्रेकफास्ट पर पहुंचे सिंधिया तो बढ़ा पॉलिटिकल टेम्प्रेचर

पीएचई मंत्री के निवास पर आधा दर्जन मंत्रियों और 40 विधायक थे मौजूद
पांसे से है मेरे 18 साल पुराने संबंध, मंत्री के रूप में देखकर हो रही खुशी
भोपाल। मध्यप्रदेश पीसीसी चीफ के पद पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिग्गज कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की ताजपोशी को लेकर चल रही चर्चाओं के बीच चार दिन के मध्यप्रदेश दौरे पर भोपाल पहुंचे श्री सिंधिया शुक्रवार को कमलनाथ के खासमखास सिपहसालार और प्रदेश के पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे के निवास पर ब्रेकफास्ट करने पहुंचे। इस दौरान श्री सिंधिया के साथ प्रदेश सरकार के आधा दर्जन केबीनेट मंत्री भी पीएचई मंत्री के घर पहुंचे। कांग्रेस के लगभग 40 विधायक भी इस दौरान मौजूद थे। श्री पांसे के निवास पर श्री सिंधिया का वार्म वेलकम श्री पांसे उनकी धर्मपत्नी श्रीमती मधु पांसे और उनके बेटे-बेटी सौमित्र-सौम्या पांसे ने किया। प्रात: 10:30 बजे पहुंचे श्री सिंधिया लगभग 1 घंटे पीएचई मंत्री के निवास पर रहे। इस दरम्यिान प्रदेश के विकास, कांग्रेस संगठन, पारिवारिक और सामाजिक मुद्दो पर चर्चा हुई।
कमलनाथ के कट्टर समर्थक पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे के निवास पर ज्योतिरादित्य सिंधिया के पहुंचने से प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस की एकजुटता और कमलनाथ-सिंधिया के ‘हम साथ-साथ हैंÓ होने का तगड़ा संदेश गया है जिससे प्रदेश का पॉलिटिकल ट्रेम्प्रेचर अचानक बढ़ गया है। एक घंटे की इस सौहृार्दपूर्ण मुलाकात में प्रदेश सरकार एवं संगठन के कामकाज को लेकर भी लंबी चर्चा हुई। सिंधिया के पांसे निवास पहुंचने की घटना के अलग-अलग राजनैतिक मायने भी निकाले जा रहे हैं। हालांकि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान दो टूक कहा कि पांसे से मेरे 18 साल पुराने संबंध है और आज मुझे पांसे को मंत्री के रूप में देखकर बहुत खुशी हो रही है। वे मराठा समाज का प्रतिनिधित्व भी करते है। श्री सिंधिया ने कहा कि आज के दौर में राजनीति के पीछे हमेशा कोई ना कोई मकसद रहता है लेकिन मैं राजनीति में नहीं जनसेवा में हूं। कमलनाथ के कट्टर समर्थक पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे के निवास पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं दिग्गज कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के पहुंचने से पूरे प्रदेश में कांग्रेस को गुटीय राजनीति से उबारने के लिए एकता का संदेश भी गया है।
सुखदेव से है 18 साल पुराने संबंध
मंत्री पांसे के आवास पर पत्रकारों से चर्चा के दौरान डिनर डिप्लोमेसी और ब्रेक फास्ट डिप्लोमेसी के पूछे गए सवाल के जवाब में श्री सिंधिया ने कहा कि मुझे भोपाल आने पर सुखदेव पांसे ने आमंत्रित किया था। सुखदेव से मेरे आज के नहीं बल्कि 18 साल पुराने संबंध है इसलिए सुखदेव और उनके परिवार से मिलने चला आया। श्री सिंधिया ने कहा कि सुखदेव को मंत्री के रूप में देखकर खुशी हो रही है। हर मुलाकात का कोई राजनैतिक मकसद हो यह जरूरी नहीं है।
परिजनों से आत्मीयता से मिले सिंधिया
पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे के निवास पर पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया श्री पांसे के परिजनों से आत्मीयता के साथ मिले। इस दौरान श्री पांसे की धर्मपत्नी श्रीमती मधु, पुत्र सौमित्र, पुत्री सौम्या ने श्री सिंधिया का गर्मजोशी से स्वागत किया। सौमित्र-सौम्या ने श्री सिंधिया के साथ सेल्फी भी ली। श्रीमती मधु पांसे ने श्री सिंधिया को चांदी से मढ़ा नारियल भेंट किया। वहीं श्री पांसे ने भी श्री सिंधिया को शाल पहनाकर स्मृति चिन्ह भेंट किया। पारिवारिक वातावरण में श्री सिंधिया सहित मौजूद आधा दर्जन मंत्रियों ने स्वल्पाहार ग्रहण किया। इस दौरान परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट, उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी, महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरतीदेवी, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री और बैतूल जिले के प्रभारी मंत्री कमलेश्वर पटेल, खाद्य मंत्री प्रद्युम्र सिंह तोमर, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, कांग्रेस नेता रामू टेकाम भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *