आयकर अफसरों ने दूसरी श्‍वेता से भी मांगा काली कमाई का ब्योरा

भोपाल। मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले की दूसरी प्रमुख आरोपित श्‍वेता स्वप्निल जैन से आयकर भवन में दिन भर पूछताछ की गई। इंवेस्टीगेशन विंग के अधिकारियों ने श्वेता के पास मिले डिजीटल साक्ष्य और विभिन्ना अधिकारियों को ब्लैकमेल कर मिली संपत्ति के बारे में पूछताछ की। उसे कड़ी सुरक्षा के बीच लाकर आयकर भवन की तीसरी मंजिल पर ले जाया गया।
सेक्सकांड की आरोपितों से पूछताछ के तीसरे दिन श्‍वेता स्वप्निल जैन को तलब किया गया। इससे पहले श्‍वेता विजय जैन व आरती दयाल से पूछताछ की जा चुकी है। हनी ट्रैप मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने जांच के बाद कोर्ट में पेश किए 144 पेज के चालान और आरोप पत्र में इन महिलाओं के संबंध में कई साक्ष्य दिए हैं। इस ब्योरे के आधार पर आयकर अफसरों ने इनके द्वारा अधिकारियों से ऐंठी गई मोटी रकम का ब्योरा मांगा, साथ ही श्‍वेता से उसके आय के स्रोत भी पूछे गए।
इस सनसनीखेज मामले में एसआईटी यह राजफाश कर चुकी है कि आरोपित महिलाओं द्वारा अधिकारियों और अन्य लोगों के अश्लील वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल किया गया, लाखों रुपए की रकम वसूली गई। आयकर इंवेस्टीगेशन विंग, खुफिया विंग और बेनामी विंग इस मामले में हुए ‘मनी ट्रैल” की छानबीन में जुटी हैं। आयकर विभाग के ज्वाइंट कमिश्नर एवं डिप्टी कमिश्नर के पांच-छह अधिकारियों ने श्‍वेता से कई सवालों पर जानकारी हासिल की।
इसके अलावा उसके विदेश दौरों का ब्योरा भी पूछा। यह भी जानना चाहा कि उसके शाही खर्चों की पूर्ति और आय के स्रोत क्या हैं। विभाग ने इन सभी आरोपितों के बैंक रिकार्ड और संपत्ति का ब्योरा जुटा लिया है।
उल्लेखनीय है कि श्‍वेता स्वप्निल जैन के पास से एसआईटी को दो मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, कंप्यूटर एवं पेन ड्राइव बरामद हुई हैं। इनमें कई अधिकारियों के बारे में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। आायकर विभाग के सूत्रों का कहना है कि हमारी रुचि केवल नंबर दो की संपत्ति और पैसों के लेनदेन की छानबीन में है। मामले में जिन अधिकारियों के नाम सामने आए हैं, उनसे मिली रकम की जानकारी भी ली गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *