रेत माफिया पर नकेल कसने पीएचई मंत्री पांसे को उतरना पड़ा मैदान में

महाराष्ट्र जा रहे अवैध रेत के 40 ट्रक जप्त
प्रशासन की निष्क्रियता पर जताई नाराजगी, सीएम-सीएस को कराएंगे अवगत
बैतूल।
रेत माफिया द्वारा बीते कई महिनों से महाराष्ट्र में अवैध रूप से रेत ले जाने के कारोबार पर प्रशासन तो सख्ती से रोक नहीं लगा पाया। लेकिन गुरूवार रात को भोपाल से मुलताई आने के दौरान पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे की नजर रेत माफिया के काले कारनामों पर पड़ गई। जिसके बाद रेत माफिया पर नकेल कसने के लिए पीएचई मंत्री श्री पांसे को स्वयं मैदान में उतरना पड़ा। पीएचई मंत्री ने ट्रकों- डंफरों से बड़े पैमाने पर रेत के अवैध परिवहन की जानकारी कलेक्टर एवं एसपी के देने के बाद भी प्रशासन, खनिज एवं पुलिस महकमे में हड़कंप मच गई। तीनों विभागों की संयुक्त टीमों ने रात भर कार्यवाही कर रेत का अवैध परिवहन करने वाले 40 ट्रक- डंफरों की धरपकड़ की गई जो कि महाराष्ट्र रेत ले जा रहे थे। बताया कि जाता है कि पीएचई मंत्री श्री पांसे ने रात्रि करीब साढ़े 12 बजे तक कलेक्टर के साथ भारत भारती के समीप खड़े रहकर ट्रकों के धरपकड़ की कार्यवाही अपनी निगरानी में करवायी। लगभग आधा सैकड़ा ट्रकों से रेत का अवैध परिवहन के मामले पर खासी नाराजगी जाहिर करते हुए पीएचई मंत्री श्री पांसे ने इसे प्रशासन की लापरवाही करार दिया है। उन्होंने कहा कि वे उक्त मामले से मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव को अवगत करवाकर उच्च स्तरीय जांच करवायेंगे तथा रेत माफिया के साथ संलिप्तता पाये जाने वाले शासकीय अमले पर सख्त कार्यवाही भी करवायेंगे।
रेत के ट्रकों की लंबी लाइनों को देखकर हतप्रभ रह गये मंत्री
उल्लेखनीय है कि पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे गुरूवार सायं 7 बजे सड़क मार्ग से भोपाल से मुलताई के लिए रवाना हुए थे। बताया जाता है कि रात्रि करीब 11 बजे पीएचई मंत्री का काफिला जब भौंरा से गुजर रहा था तो भौंरा से बैतूल की ओर रेत से भरे लगभग आधा सैकड़ा डंफर ट्रक अंधी रफ्तार से जाते देख पीएचई मंत्री श्री पांसे भी हतप्रभ रह गये। रेत माफिया की करतूतो को भांपकर पीएचई मंत्री ने रात को ही कलेक्टर, एसपी को मोबाईल पर पूरे मामले की जानकारी देकर कार्यवाही के निर्देश दिये।
कड़ाके की ठंड में रात्रि 12.30 बजे तक रूके रहे पीएचई मंत्री
रेत माफिया के खिलाफ कार्यवाही को लेकर पीएचई मंत्री के निर्देश के बाद राजस्व, खनिज विभाग सहित पुलिस महकमें में हड़कंप मच गई। राजस्व खनिज एवं पुलिस विभाग के अमले की टीमों ने रात्रि 11 बजे से रेत के ट्रकों को धरपकड़ करने के लिए भौंरा से लेकर झल्लार तक सर्चिंग अभियान चलाया। रात भर में महाराष्ट्र जा रहे रेत के 40 ट्रकों को जप्त किया गया। उल्लेखनीय है कि पीएचई मंत्री के निर्देश के बाद कलेक्टर तेजस्वी एस नायक को भी मैदान में उतरना पड़ा। बताया जाता है कि कलेक्टर के पहुंचने पर पीएचई मंत्री श्री पांसे रात्रि साढ़े बारह बजे तक भारत भारती ग्राम के पास ्ररूके रहे। रात्रि में की जा रही धरपकड़ कार्यवाही की जानकारी कलेक्टर द्वारा पीएचई मंत्री को दी गई। रात्रि करीब साढ़े बारह बजे के बाद पीएचई मंत्री मुलताई के लिए रवाना हुए। जबकि कलेक्टर तेजस्वी एस नायक रात्रि तीन बजे तक कार्यवाही की मॉनीटरिंग करते रहे। बैतूल एसडीएम श्री पांडे, जिला खनिज अधिकारी शशांक शुक्ला सहित राजस्व एवं पुलिस विभाग की संयुक्त टीमों ने रात भर सर्चिंग कर महाराष्ट्र रेत ले जा रहे 40 ट्रकों को जप्त कर कोतवाली गंज थाना सहित पुलिस लाइन बैतूल में खड़ा करवाया।
प्रारंभिक जांच में 13 ट्रक मिले ओव्हर लोड
जिला खनिज अधिकारी शशांक शुक्ला ने बताया कि पीएचई मंत्री के निर्देश पर गुरूवार-शुक्रवार की दरम्यानी रात राजस्व खनिज एवं पुलिस विभाग की संयुक्त टीमों द्वारा सर्चिंग कर महाराष्ट्र रेत ले जा रहे 40 ट्रकों को अवैध खनिज परिवहन के संदेह में जप्त किया है। उन्होंने बताया कि सभी ट्रकों में भरी रेत का मेजरमेंट कर ईटीपी से मिलान किया जा रहा है। जांच के दौरान 13 ट्रकों में ईटीपी से अधिक रेत पायी गई है। समाचार लिखे जाने तक जांच पड़ताल जारी थी। जिला खनिज अधिकारी के मुताबिक जांच पूरी होने के बाद खनिज के अवैध परिवहन एवं ओव्हर लोडिंग के मामलों में खनिज अधिनियम के तहत प्रकरण बनाकर कलेक्टर न्यायालय में प्रस्तुत किये जायेंगे।
परिवहन विभाग से भी करवायेंगे जांच
जिला खनिज अधिकारी श्री शुक्ला ने बताया कि महाराष्ट्र पासिंग के ट्रकों डम्फरों से मप्र में रेत की परिवहन किया जा रहा था। इसलिए परिवहन विभाग को वाहनों की विस्तृत जानकारी भेजकर वाहनों के मूल स्वरूप में परिवर्तन मप्र में परिवहन की अनुमति सहित अन्य अनियमितता की जांच करवाई जायेगी।
प्रशासन की गंभीर निष्क्रियता उजागर- पांसे
रेत माफिया के बुलंद हौसलों से जिले से महाराष्ट्र राज्य में हो रही रेत की तस्करी से पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे खासे नाराज है। गुरूवार रात को रेत माफिया की करतूतों से रूबरू होने के बाद पीएचई मंत्री श्री पांसे का साफ कहना था कि प्रशासन की गंभीर निष्क्रियता के परिणाम स्वरूप रेत माफिया द्वारा खुलेआम आधा सैकड़ा ट्रकों, डंफरों से रेत का अवैध परिवहन करवा रहा है। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि रेत माफिया प्रशासन- पुलिस से बेखौफ है।
दैनिक राष्ट्रीय जनादेश के साथ चर्चा के दौरान पीएचई मंत्री श्री पांसे ने कहा कि उनके निर्देश के बाद प्रशासन द्वारा देर रात रेत के ट्रकों को धरपकड़ की कार्यवाही की थी। श्री पांसे के मुताबिक वे उक्त मामले से मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव को अवगत करवाकर उच्च स्तरीय जांच करवायेंगे। रेत माफिया के साथ अमले की संलिप्तता के सवाल पर पीएचई मंत्री श्री पांसे का कहना था कि आम 40-50 ट्रकों- डंफरों से रेत का अवैध परिवहन किया जा रहा है। क्या इसकी मॉनीटरिंग राजस्व, खनिज पुलिस विभाग के अमले को नहीं करना चाहिए? उन्होंने कहा कि रेत के अवैध कारोबार में खनिज माफिया के साथ विभिन्न विभागों के अमले की भूमिका की जांच करवाई जायेगी तथा दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *