नेता प्रतिपक्ष का आरोप- वल्लभ भवन दलाली का अड्डा, मंत्री बोले- प्रमाण हो तो लाएं

भोपाल। यूरिया संकट, कर्जमाफी, पोषण आहार प्लांट एमपी एग्रो को सौंपने के निर्णय और आईएएस एसोसिएशन की अध्यक्ष गौरी सिंह द्वारा इस्तीफा देने पर विपक्ष के तीखे तेवर सदन के बाहर भी बरकरार रहे। पत्रकारों से चर्चा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि वल्लभ भवन दलाली का अड्डा बन गया है। उच्च शिक्षा एवं खेल मंत्री जीतू पटवारी ने भार्गव के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि यह प्रदेश का अपमान है। उन्होंने चुनौती दी कि प्रमाण हैं, तो समाज के सामने रखें। नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने कहा कि जब आईएएस एसोसिएशन की अध्यक्ष को मजबूर होकर इस्तीफा देने पड़ा, तो दूसरे अफसरों का क्या हाल होगा। उन्होंने कहा कि हमने सदन में अतिथि शिक्षक, अतिथि विद्वानों, किसानों, यूरिया संकट, अतिवृष्टि का मुद्दा उठाया। सरकार जवाब ही नहीं देना चाहती है। महिलाओं को मुंडन कराना पड़ रहा है।
15 दिन से भोपाल में हैं, लेकिन कोई मिलने तक नहीं पहुंचा। नेता प्रतिपक्ष के आरोपों पर मंत्री पटवारी ने कहा कि ऐसा कहकर नेता प्रतिपक्ष भार्गव और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश का अपमान किया है। पटवारी ने कहा कि अब तक जितनी सीडी आईं, वह पूर्व मुख्यमंत्री चौहान के मंत्रियों की हैं। उनके एक पूर्व मंत्री ने शराब के नशे में क्या-क्या कहा। यह जनता के सामने है। मंत्री ने कहा कि यूरिया, ओलावृष्टि पर चर्चा होना थी। वह भागे क्यों? यदि किसानों-जनता की चिंता थी, तो बात करते। उन्होंने अतिथि विद्वानों की भरोसा दिलाया कि सरकार उनके विषय में सोच रही है। उपलब्ध संसाधनों में जो बेहतर हो सकेगा, वह करेंगे। भाजपा अतिथि विद्वानों को लेकर घड़ियाली आंसू न बहाए।

सदन से सड़क तक संघर्ष करेंगे

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पत्रकारों से कहा कि सदन में सरकार विपक्ष के हर सवाल से बची। सरकार ने कफन के पांच हजार रुपए भी गरीबों से छीन लिए। लाड़ली लक्ष्मी का पैसा जमा नहीं करा रहे। भोपाल के एक पार्क में महिला-बच्चे कड़ाके की सर्दी में बैठे हैं। चौहान ने कहा कि एनआरसी के मामले में सरकार प्रदेश को अशांत बनाना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *