390 पेज के चालान में तीन करोड़ रुपए के लिए ब्लैकमेल की दास्तां कोर्ट में पेश

इंदौर। बहुचर्चित हनीट्रैप मामले में सोमवार दोपहर पलासिया पुलिस ने जिला कोर्ट में चालान पेश कर दिया। 390 पन्नों का चालान लेकर कोर्ट पहुंचे पलासिया थाना प्रभारी ने कोर्ट को बताया कि मामले में 8 आरोपित हैं। इनमें से 6 को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था जबकि दो की गिरफ्तारी बाकी है। इस केस में 57 लोगों को गवाह बनाया है। चालान में पुलिस ने कहा है कि अब तक हो चुकी जांच में आरोपितों द्वारा कई लोगों को अश्लील वीडियो वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेल करने की बात सामने आई है। पुलिस इस बात की जांच भी कर रही है कि वे कौन लोग थे जिन्हें ब्लैकमेल किया गया। अगर वे लोग लोकसेवक थे तो उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए आरोपितों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तरीके से क्या फायदा पहुंचाया? कुछ आरोपित बढ़ सकते हैं।
सुबह से सक्रिय थी पुलिस
हनीट्रैप मामले में चालान पेश करने को लेकर सोमवार सुबह से ही पुलिस अधिकारी सक्रिय थे। दोपहर करीब एक बजे पलासिया थाना प्रभारी जिला कोर्ट पहुंचे। उन्होंने कुछ देर जिला अभियोजन अधिकारी मो. अकरम शेख से चर्चा की। इसके बाद वे जेएमएफसी अमित कुमार गुप्ता की कोर्ट पहुंचे। वहां अभियोजन अधिकारी ने कोर्ट को बताया कि पुलिस चालान पेश कर रही है। आरोपितों की गिरफ्तारी को सोमवार को 89वां दिन था। दोपहर करीब 1.20 बजे पुलिस ने चालान पेश कर दिया। भोजनावकाश के बाद कोर्ट ने इसे रिकॉर्ड पर लेते हुए आदेश दिया कि सभी आरोपितों के वकीलों को इसकी एक-एक प्रति उपलब्ध कराई जाए।
एक ही फरियादी
हनीट्रैप मामले में अब तक एक ही फरियादी सामने आया है। नगर निगम के इंजीनियर हरभजन के अलावा और किसी ने भी हनीट्रेप से जुड़े किसी भी मामले की शिकायत अब तक पुलिस को नहीं की है।
यह है हनीट्रैप मामला
नगर निगम के निलंबित इंजीनियर हरभजन सिंह ने 18 सितंबर 2019 को पलासिया थाना पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई थी कि आरती नामक महिला अश्लील वीडियो वायरल करने के नाम पर उसे ब्लैकमेल कर रही है। आरोपित तीन करोड़ रुपए मांग रही है। रुपए नहीं देने पर वह वीडियो वायरल करने की धमकी दे रही है। पुलिस ने शिकायत पर कार्रवाई करते हुए आरोपित आरती दयाल, श्वेता विजय जैन, श्वेता स्वप्निल जैन, मोनिका यादव, बरखा सोनी और ओमप्रकाश को गिरफ्तार कर लिया।
चालान के साथ हैं ये सबूत
चालान के साथ पुलिस ने जांच में जब्त मोबाइल फोन, नकदी, मोबाइल के स्क्रीन शॉट, निजी डायरियां, एग्रीमेंट, वॉइस रिकॉर्डिंग, लैपटॉप, हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव में मौजूद ऑडियो-वीडियो सहित कच्चा चिट्ठा पेश किया है। पुलिस ने आरोपित आरती दयाल और फरियादी हरभजन सिंह के बीच हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी पेश की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *