निर्भया के दोषियों को फांसी देने के लिए राष्ट्रपति को पत्र लिखी चिट्ठी, कहा- मुझे बनाओ जल्लाद

नई दिल्ली: निर्भया सामूहिक बलात्कार-हत्याकांड के गुनहगारों को फांसी पर लटकाने के लिए हिमाचल के एक शख्स ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर तिहाड़ जेल में खुद को अस्थाई जल्लाद नियुक्त करने की मांग की है. शिमला के रवि कुमार ने कहा, “मुझे जल्लाद के रूप में नियुक्त करें ताकि निर्भया कांड के दोषियों को जल्द ही फांसी दी जा सके और निर्भया की आत्मा को शांति मिल सके”.  बता दें दिल्ली की तिहाड़ जेल में अभी कोई जल्लाद नहीं है.  40 वर्षीय रवि संजौली इलाके में संजौली में सब्जी बेचने का काम करते हैं. उन्होंने पिछले लोकसभा चुनाव में शिमला से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव भी लड़ा था. उन्हें  0.39 फीसदी वोट मिले थे. 

दिल्ली जेल के महानिदेशक संदीप गोयल के हवाले से मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि तिहाड़ जेल या मंडोली जेल में कोई अधिकृत प्रशिक्षित जल्लाद नहीं है जो जल्लाद की जिम्मेदारी निभा सके.  उन्होंने कहा, “फिर भी, चिंता की कोई बात नहीं है. जब ऐसी स्थिति आएगी (निर्भया मामले के दोषियों को फांसी देना) तो सब कुछ मैनेज हो जाएगा. हम किसी दूसरे राज्य से किसी को बुला लेंगे.” बता दें इससे पहले सोमवार को निर्भया के दादा लाल जी सिंह ने बलात्कारियों को अब तक फांसी न होने को लेकर सवाल उठाया था. उन्होंने कहा था कि निर्भया के गुनहगारों को फांसी न होने के कारण बलात्कारियों का मनोबल बढ़ा है और इसी वजह से इन घटनाओं पर अंकुश नहीं लग पा रहा. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बलात्कार को लेकर नया सख्त कानून बनाने की बात कह रही है लेकिन कानून बनाने से क्या हो जायेगा? सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार को कानून बनाना हो तो वह यह कानून बनाये कि बलात्कार का आरोपी गिरफ्तार होने के बाद भीड़ के हवाले कर दिया जाये, जनता स्वयं इंसाफ कर देगी. उन्होंने कहा कि जिस दिन बलात्कारी को चौराहे पर खड़ा करके गोली मार दी जायेगी, बलात्कार की घटनाओं पर स्वतः अंकुश लग जायेगा. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *