कांग्रेस ने शरद पवार से पूछा- असली एनसीपी कहां है

महाराष्ट्र में हुआ सियासी घटनाक्रम कांग्रेस के लिए भी चौंकाने वाला रहा। रात में दिल्ली और मुंबई में पार्टी के नेता सोने गए थे, तब यह सुकून था कि प्रदेश में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है, लेकिन सुबह उठे तो टीवी पर जो कुछ चला, उस पर तो पहले पहल भरोसा ही नहीं हुआ। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने अपने ट्वीट में लिखा – कांग्रेस को पहले तो लगा कि यह फेक न्यूज है। सिंघवी ने फिर यह भी लिखा कि पवार तुसी ग्रेट हो। बहरहाल, शुरुआती खबरों में कांग्रेस ने इसके लिए शरद पवार को दोषी ठहराया है। वहीं पार्टी ने शरद पवार के प्रति भी नाराजगी जाहिर की है और पूछा है कि असली एनसीपी कहां है? क्या अजीत पवार असली एनसीपी है या अब तक हुई बैठकों में जो हुआ वो असली एनसीपी है?

कांग्रेस सूत्रों के हवाले कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र में जो कुछ हुआ है, उसके पीछे शरद पवार हैं और उन्होंने धोखा दिया है। बता दें, महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शरद पवार ने दिल्ली जाकर सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। शुरू में सोनिया गांधी शिवसेना के साथ जाकर सरकार बनाने को लेकर तैयार नहीं थीं, लेकिन शरद पवार के कहने पर ही उन्होंने विचार किया और तय हुआ कि कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण डिप्टी सीएम बनेंगे।
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, महाराष्ट्र में जो हुआ वह छिपकर करने की क्या आवश्यकता थी, इस प्रकार अचानक राष्ट्रपति शासन का हटना और इस प्रकार शपथ दिलाना कौन-सी नैतिकता है? ये लोग देश में लोकतंत्र को किस दिशा में ले जा रहे हैं? समय आने पर देशवासी इसका जवाब देंगे और बीजेपी को सबक सिखाएंगे। इस माहौल में फडणवीस जी मुख्यमंत्री के रूप में कामयाब हो पाएंगे, यह डाउटफुल है… सीएम और डिप्टी सीएम दोनों ने गिल्टी कॉन्शियस होकर शपथ ली है वे गुड गवर्नेंस दे पाएंगे इसमें संदेह है जिसका नुकसान महाराष्ट्र की जनता को होगा।
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया – मुझे मत देखो यूँ उजाले में लाकर, सियासत हूं मैं, कपड़े नहीं पहनती। इसे कहते हैं-: जनादेश से विश्वासघात, लोकतंत्र की सुपारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *