जानें क्या है FASTag, यह 1 दिसंबर से हो जाएगा अनिवार्य, जानें इसके बारे में

FASTag वाहनों के लिए एक प्रीपैड टैग सुविधा है, जिससे आप टॉल प्लाजा पर बिना रुके और समय गवाएं गाड़ी चला सकते हैं। दऱअसल 1 दिसंबर से सरकार हाइवे पर FASTag को अनिवार्य कर रही है। इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का इस्तेमाल होता है। एक बार अगर आपका FASTag एक्टिव हो जाएगा तो आप इसे गाड़ी के शीशे पर लगा सकते हैं। इसके बाद टॉल प्लाजा पर पहुंचने पर खुद ही नैशनल हाइवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पेमेंट वॉलेट से लिंक किए हुए आपके बैंक अकाउंट से टोल का पैसा कट जाएगा।

सरकार ने इसके लिए 1 दिसंबर की डेटलाइन दी है। 1 दिसंबर से देशभर के नैशनल हाइवे के टोल प्लाजा सभी लेन इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन इंफ्रास्ट्रक्चर से लैस होंगे। एक दिसंबर से अगर आप टोल प्लाजा पर FASTag लेन पर गए और आपका FASTag एक्टिव नहीं हुआ है तो आपके दोगुना टोल फीस कैश में चुकानी होगा।

एक बार जब आपका FASTag अकाउंट एक्टिव हो जाएगा तो आपको टोल प्लाजा पर FASTag लेन पर जाना होगा। इसके बाद आपके बैंक अकाउंट से बैलेंस कट जाएगा और आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस भी मिल जाएगा।

कैसे ले सकते हैं FASTag
किसी भी सरकारी बैंक से फास्टैग स्टीकर ऑफलाइन या ऑनलाइन आवेदन करके भी फास्टैग मंगवाया जा सकता है। अपनी कार, जीप और वैन के लिए आप ऑनलाइन अमेजन, SBI, ICICI, HDFC Axis बैंक और पैटीम बैंक और IDFC फर्स्ट बैंक से भी ले सकते हैं।

FASTag आप विभिन्न बैंकों, नेशनल हाइवे फीस प्लाजा, रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस, कॉमन सर्विस सेंटर, ट्रांसपोर्ट हब, बैंको की ब्रांचों और पेट्रोल पंपों के 28,000 प्वाइंट ऑफ सेल लोकेशन यानी (POS) से ले सकते हैं। इस लिंक पर क्लिक करके आप अपने पास की देख सकते हैं। इसके लिए आपको KYC डॉक्यूमेंट, आरसी, पहचान पत्र, पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत होगी। इसके लिए आप सभी डॉक्यूमेंट्स की ओरिजनल और फोटोकॉपी दोनों लेकर जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *