1 नवंबर से SBI डिपॉजिट पर इंट्रेस्ट रेट और डिजिटल पेमेंट्स के नियमों में बड़ा बदलाव

नई दिल्ली। एक नवंबर से कई नियमों में बदलाव हो रहा है। ऐसे में बदले हुए नियमों के बारे में जानकारी होनी चाहिए। इस आर्टिकल में आपको उन नियमों और घोषणाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जो एक नवंबर से लागू होने जा रही है। SBI के बदलने वाले नियम का करीब 42 करोड़ ग्राहकों पर असर होगा।

  1. अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ग्राहक हैं तो एक नवंबर से डिपॉजिट पर ब्याज की दर बदलने वाली है। बैंक के इस फैसले का असर 42 करोड़ ग्राहकों पर होगा। SBI की 9 अक्टूबर की घोषणा के मुताबिक, एक लाख रुपये तक के डिपॉजिट पर ब्याज की दर 0.25 फीसदी घटाकर 3.25 फीसदी कर दी गई है। एक लाख से ज्यादा के डिपॉजिट पर इंट्रेस्ट रेट को रीपो रेट से जोड़ा जा चुका है। वर्तमान में यह 3 फीसदी है।
  2. आम बजट में की गई घोषणा पर अमल करते हुए पिछले दिनों केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT)ने निर्देश जारी किया कि एक नवंबर से कारोबारी डिजिटल पेमेंट्स लेने से इनकार नहीं कर सकते हैं। नए नियम के मुताबिक, एक नवंबर से कारोबारियों और ग्राहकों से मर्चेंट डिस्काउंट रेट (MDR) नहीं वसूला जाएगा।
    बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की थी कि जिन व्यापारियों का टर्नओवर 50 करोड़ से ज्यादा है, उन्हें अपने ग्राहकों को डिजिटल पेमेंट्स की सुविधा जरूर उपलब्ध करानी चाहिए। साथ में उन्होंने यह भी कहा था कि ट्रांजैक्शन चार्ज का वहन बैंक आपस में कर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *