अयोध्या फैसले को लेकर मध्य प्रदेश में अलर्ट, डीजीपी ने दिए खास निर्देश

भोपाल। अयोध्या मसले को लेकर प्रदेश भर में पुलिस मुस्तैद है। प्रदेश के डीजीपी वीके सिंह ने सभी आईजी एवं एसपी को निर्देश दिए हैं कि अयोध्या मसले पर आने वाले सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को लेकर पुलिस पूरी तरह सजग, सर्तक एवं मुस्तैद रहे। सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए फैसले के हर पहलू को ध्यान में रखकर अभी से पुख्ता तैयारियां की जाएं।

डीजीपी ने वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए यह निर्देश दिए। विशेष पुलिस महानिदेशक रेलवे अरूणा मोहन राव, विशेष पुलिस महानिदेशक एसएएफ विजय यादव, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक गुप्तवार्ता डॉ एस.डब्ल्यू.नकवी, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक प्रबंध डी.श्रीनिवास राव, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दूरसंचार उपेन्द्र जैन, पुलिस महानिरीक्षक गुप्तवार्ता मकरंद देउस्कर, पुलिस महानिरीक्षक रेलवे जयदीप प्रसाद एवं पुलिस उप महानिरीक्षक कानून-व्यवस्था मनोज शर्मा सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

डीजीपी ने कहा सभी पुलिस अधीक्षक अपने-अपने जिलों में सांप्रदायिक लिहाज से संवेदनशील व वल्नरेबल इलाकों की सूची तैयार कर वहां एहतियात बतौर सुरक्षा के विशेष इंतजाम मुकम्मल करें। संवेदनशील व धार्मिक स्थलों समेत अन्य स्थानों को सीसीटीवी कैमरों के दायरे में लाएं। जरूरत के मुताबिक ड्रोन कैमरों से भी वीडियो रिकॉर्डिंग कराई जाए। साथ ही जनमानस में इस बात का व्यापक प्रचार-प्रसार करें कि आप सब कैमरे की निगरानी में है। पुलिस व्यवस्था इस प्रकार से लगाई जाए, जिससे हर जगह पुलिस की प्रभावी मौजूदगी दिखाई दे। साथ ही कहा कि सोशल मीडिया की प्रभावी निगरानी रखें और अफवाओं पर अंकुश लगाएँ। उन्होंने मजबूत सूचना तंत्र विकसित करने के लिए भी कहा।

सामाजिक सद्भाव बनाए रखने के लिए शांति समितियों को सक्रिय करने और विभिन्न सामाजिक व राजनैतिक संगठनों का सहयोग लेने पर भी पुलिस महानिदेशक ने विशेष बल दिया। अयोध्या मसले के फैसले को ध्यान में रखकर रेलवे स्टेशनों पर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश उन्होंने दिए। सिंह ने नगर एवं ग्राम रक्षा समितियों के पुनर्गठन की कार्यवाही करने की बात भी वीडियो कॉफ्रेंसिंग में कही। पुलिस महानिदेशक ने कहा हालाँकि पिछले तीन वर्ष की तुलना में इस साल सांप्रदायिक घटनाओं में लोकसभा चुनाव के बावजूद बड़ी कमी आई है। फिर भी पूरी सतर्कता बरती जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *