निवेशकों से बोले सीएम कमलनाथ- मध्यप्रदेश भरोसेमंद, जो कहता है वो करता है

इंदौर। निवेशकों का भरोसा जीतने की मुहिम में लगी कमलनाथ सरकार ने प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर से मैग्निफिसेंट मध्यप्रदेश के जरिए नए सफर की शुरुआत की। देश और दुनिया के 900 से ज्यादा उद्योगपतियों की मौजूदगी में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने निवेशकों से कहा कि वे मध्यप्रदेश पर भरोसा कर सकते हैं, क्योंकि यह जो कहता है वो करता है। हमारी विश्वसनीयता अडिग है और सरकार कोई भी नया कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगी। कई क्षेत्रों में सुधार किया है और यह आगे भी चलता रहेगा। ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में शुरू हुए एक दिनी आयोजन में मप्र की खासियत गिनाते हुए उन्होंने कहा इंदौर-भोपाल इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में सैटेलाइट सिटी होंगी। मेट्रो का काम शुरू हो चुका है। रियल एस्टेट सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं। पर्यटन, लॉजिस्टिक, वेयर हाउंसिंग, खाद्य प्रसंस्करण, एनर्जी स्टोरेज क्षेत्रों में बहुत गुंजाइश है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सिर्फ एमओयू करने या किसी प्रकार के दिखावे का मंच नहीं है। हमारा मकसद है कि वास्तविक रूप में निवेश हो जिससे लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिल रहे हैं।
सीएम बोले- एनर्जी स्टोरेज, लैंड पूलिंग के लिए काम करने वाला पहला राज्य मप्र
मुख्यमंत्री ने कहा, भविष्य एनर्जी स्टोरेज का है। मप्र देश का पहला राज्य होगा, जो इसके लिए जनवरी में प्रस्ताव बुलाएगा। अंबानी समूह ने भी इस क्षेत्र में काम करने की मंशा जाहिर की है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में बड़ा कदम उठाया जा रहा है। लैंड पूलिंग पॉलिसी लाने वाला भी मध्यप्रदेश पहला राज्य है। जल का अधिकार अधिनियम लागू करने की तैयारी करने वाला मप्र पहला राज्य है। किसानों की कर्जमाफी का बताया गणित: कमलनाथ ने उद्योगपतियों को किसानों की कर्जमाफी का गणित भी बताया। उन्होंने कहा कि सरकार ने करीब 20 लाख किसानों का कर्ज माफ किया है। हमारे प्रदेश में 70 फीसदी आबादी गांव में रहती है जो खेती के भरोसे है। कर्ज माफी से ग्रामीण अर्थव्यवस्था में गति आएगी। कार्यक्रम की विशेषता समय प्रबंधन भी रही।
समय प्रबंधन : तय समय से शुरू व खत्म हुआ आयोजन
मुख्य सचिव सुधीरंजन मोहंती ने निवेशकों को मध्यप्रदेश खूबियों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश देश के मध्य में होने की वजह से लॉजिस्टिक और वेयर हाउस के लिए सबसे मुफीद राज्य है। खनिज भरपूर हैं तो मानव संसाधन भी उपलब्ध हैं। नीतियों को उद्योग फ्रेंडली बनाया गया है। प्रमुख सचिव उद्योग डॉ. राजेश राजोरा ने धन्यवाद ज्ञापित किया। तय समय के साथ आयोजन सुबह 11 बजे शुरू हुआ व पांच मिनट पहले ही आभार के साथ समापन हुआ। यही प्रबंधन अन्य कार्यक्रमों में भी नजर आया।
45 स्थानों पर नेशनल डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर बनाएगा रिलायंस
रिलायंस समूह के चेयरमैन मुकेश अंबानी कार्यक्रम में खुद नहीं आ पाए, उन्होंने ऑन स्क्रीन अपनी मौजूदगी दर्ज कराते हुए मप्र सरकार और निवेशकों के बीच बात रखी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सिर्फ देश का हार्ट ही नहीं धड़कन भी है। यहां 20 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश किया है। उन्होंने कहा, अभी 100 पेट्रोल आउटलेट हैं। यहां रिलायंस 45 स्थानों पर आधुनिक नेशनल डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर स्थापित करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *