मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद करेंगे प्रदेश में होने वाले निवेश का एलान

भोपाल। इंदौर में होने वाले मैग्निफिसेंट एमपी की तैयारियों को सरकार ने लगभग अंतिम रूप दे दिया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद प्रदेश में होने वाले निवेश का एलान कार्यक्रम के बाद 18 अक्टूबर को शाम साढ़े पांच बजे करेंगे। बताया जा रहा है कि 90 हजार से एक लाख करोड़ रुपए का निवेश प्रदेश में आने वाले समय में होगा।
यह निवेश वो है, जिस पर विभिन्न् विभागों में काम चल रहा है। 17 अक्टूबर को मैग्निफिसेंट एमपी को लेकर प्रदर्शनी लगेगी। इसमें स्टॉल लगाने लेकर कई कंपनियां आगे आई हैं, लेकिन जगह की कमी को देखते हुए सिर्फ 70 कपंनियों के स्टॉल ही लगेंगे। इसमें प्रदेश का भी स्टॉल लगाकर यहां की विशेषताएं बताई जाएंगी।
उद्योग विभाग के अधिकारियों का कहना है कि मैग्निफिसेंट एमपी सिर्फ निवेशकों का सम्मेलन नहीं है। यह उद्योगपतियों के साथ संवाद का एक माध्यम है। मुख्यमंत्री इसके जरिए निवेशकों से उनकी अपेक्षाएं जानना चाहते हैं। साथ ही यह भरोसा भी दिलाना चाहते हैं कि प्रदेश में उनके लिए न सिर्फ भरपूर संभावनाएं हैं, बल्कि दोस्ताना माहौल भी है। सम्मेलन में जो निवेश प्रस्ताव आएंगे, उसका एलान मुख्यमंत्री स्वयं करेंगे।
इस बार कोई एमओयू नहीं होगा। सीधे जमीन पर काम की शुरुआत के लिए फैसले होंगे। सूत्रों का कहना है कि 90 हजार से एक लाख करोड़ रुपए का निवेश कई क्षेत्रों में आ सकता है। इसमें भी उन्हें प्राथमिकता में रखा गया है जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार के मौके उपलब्ध कराएंगे।
673 उद्योगपति की सहमति आई, 250 और आएंगी
उधर, मैग्निफिसेंट एमपी में हिस्सा लेने वाले उद्योगपतियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अभी तक 673 उद्योगपतियों की सहमति प्राप्त हो चुकी है। मंगलवार तक 250 उद्योगपतियों की सहमति और आने की संभावना है।
सत्रों में मौजूद रहेंगे एसीएस और प्रमुख सचिव
सूत्रों का कहना है कि कार्यक्रम में चुनिंदा अपर मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव स्तर के अधिकारी ही मौजूद रहेंगे। इनमें वे अधिकारी शामिल हैं, जिनके विभागों से जुड़े विषय रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *