70 से ज्यादा उद्योगपतियों को गोल्ड पास, 3 देशों के अफसर भी खास मेहमान

इन्वेस्टर्स समिट मैग्निफिसेंट एमपी के लिए मेहमान उद्योगपतियों की सूची तय हो गई है। समिट में शामिल हो रहे शीर्ष उद्योग समूहों के प्रतिनिधियों और उद्योगपतियों को समिट के लिए गोल्ड पास जारी किए गए हैं। सूची में 70 से ज्यादा नाम शामिल हैं। इनमें गोदरेज, बिरला, टाटा, अडानी जैसे उद्योग समूह के साथ तीन देशों अमेरिका, जापान और ब्रिटेन के अधिकारी भी शामिल हैं।

मैग्निफिसेंट एमपी की तैयारियां अंतिम दौर में हैं। मेहमानों की सूची अधिकारियों के पास भेज दी गई है। शीर्ष अधिकारी हर मेहमान उद्योगपतियों से सीधे बात कर आने की पुष्टि कर रहे हैं। टाटा, बिरला, डालमिया ग्रुप, अडानी, किर्लोस्कर, ट्राइडेंट, इंडिया सीमेंट, रसना समूह, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईटीसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, बजाज, रेमंड, आयशर, ग्रेसिम, सीमंस और थर्मेक्स जैसे अन्य बड़े उद्योग समूहों के प्रतिनिधियों ने आने की हामी भर दी है। इसी के साथ यूएस कांउसलेट के तीन अधिकारी, जापान एक्सटरनल ट्रेड ऑर्गनाइजेशन और यूके इंडिया बिजनेस काउंसिल के पदाधिकारी भी मेहमान बनकर गोल्डन पास के साथ समिट में शामिल होंगे। इसके अलावा कई और देशों के हाई कमीशन से जुड़े अफसर भी इस समिट में शामिल होंगे। इन्हें भी सरकार ने खास मेहमान का दर्जा दिया है।

पतंजलि समूह का नाम शामिल नहीं
समिट के इन खास मेहमानों की सूची खुद मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव के साथ सीआईआई के दिए नामों और निवेश के लिए प्रमुख समूहों द्वारा जताई गई अभिरुचि के आधार पर तय हुई है। एसोचैम, नेस्कॉम जैसे संगठन व आला अधिकारियों के साथ इस लिस्ट में 20 नाम और जुड़ेंगे। आखिर तौर पर गोल्ड पास वाले मेहमानों की सूची का आंकड़ा 90 तक रहेगा। आखिर तक रिलायंस ग्रुप के प्रमुख मुकेश अंबानी ने आने की हामी नहीं भरी है। अहम बात है कि बीते साल भाजपा सरकार के कार्यकाल में हुई इन्वेस्टर्स समिट में सुर्खियां बटोरने वाले पतंजलि समूह का नाम मेहमानों की सूची में शामिल नहीं है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *