एसआईटी बदलने पर उलझे दो मंत्री, बताई अलग-अलग वजह

भोपाल। बहुचर्चित हनी ट्रैप की जांच को लेकर दूसरी बार एसआईटी प्रमुख बदले जाने की सियासी और प्रशासनिक हलकों में चर्चा सरगर्म रही। इस बीच सागर में परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत एवं इंदौर में गृहमंत्री बाला बच्चन ने हनी ट्रैप की जांच को लेकर अलग-अलग कारण गिना दिए हैं। राजपूत ने कहा कि जांच से जुड़े वीडियो लीक होने का मामला मुख्यमंत्री कमलनाथ और डीजीपी के संज्ञान में आया इस कारण बदलाव हुआ। गृहमंत्री बाला बच्चन का तर्क है कि परिपक्व व्यक्ति को कमान सौंपना थी, इसलिए बदलाव किया गया।
इधर, एसआईटी के नए मुखिया स्पेशल डीजी राजेंद्र कुमार गुरुवार को अपना नया कार्यभार संभालेंगे। एसआईटी के पूर्व मुखिया संजीव शमी के बदले जाने को लेकर भी प्रशासनिक गलियारों में तरह तरह की चर्चा व्याप्त है। कोई इसे अफसरों की आपसी सिर फुटोव्वल मान रहा है तो कोई कुछ और। संजीव शमी की सख्त मिजाजी के चलते माना जा रहा था कि जांच जल्द ही अंजाम तक पहुंच जाएगी, लेकिन बीच जांच से उन्हें ही हटा दिया गया।
उनकी जगह उनसे वरिष्ठ अधिकारी को इसकी जांच सौंपकर मुख्यमंत्री ने ब्यूरोक्रेटिक टकराव को थामने की भी कोशिश की हैं। यह माना जा सकता है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार देर रात किए फेरबदल से कई सारे संदेश दिए। इस मामले पर गृहमंत्री बाला बच्चन और परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत की बयानबाजी ने भी सरगर्मी बढ़ा दी। उधर, एसआईटी के नए प्रमुख स्पेशल डीजी राजेंद्र कुमार गुरुवार को अपना पदभार संभालेंगे। इस हाई प्रोफाइल मामले को लेकर मप्र पुलिस के दो वरिष्ठ अधिकारियों का विवाद सामने आने के बाद यह बदलाव अपेक्षित माना जा रहा था।
परिपक्व व्यक्ति संभाले कमान
इंदौर में गृहमंत्री बच्चन ने परिवर्तन को लेकर कह दिया कि ज्यादा परिपक्व व्यक्ति कमान संभाले, इसलिए यह बदलाव किया गया। उधर प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने यह मांग भी उठा दी कि हनी ट्रैप में सागर के तत्वों का भी खुलासा होना चाहिए। राजपूत ने कहा कि मामले से जुड़े वीडियो लीक हुए जो नहीं होना चाहिए थे। यह बात सीएम और डीजीपी के संज्ञान में आई है, इसलिए यह बड़ा कदम उठाया गया है। राजपूत मजाकिया अंदाज में यह भी बोले कि जिनके पास है मनी, उन्होंने चखी हनी। राजपूत ने यह भी कहा कि सभी चाहते हैं निष्पक्ष जांच हो और कोई कितना भी बड़ा नेता व अफसर क्यों न हो उसका पर्दाफाश हो।
आज पदभार संभालेंगे राजेंद्र कुमार
मामले में एसआईटी के नए मुखिया बनाए गए राजेंद्र कुमार ने संकेत दिए हैं कि वह 3 अक्टूबर गुरुवार को अपना नया पद संभालेंगे। हनी ट्रैप मामले पर वह कुछ भी बोलने से बचते रहे, उनका यही कहना था कि अभी मामले को समझूंगा, उसके बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। उन्होंने कुछ भी प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *