मध्यप्रदेश में 1539 पदों पर विशेषज्ञ डॉक्टरों की होगी संविदा भर्ती

भोपाल। मध्यप्रदेश के सरकारी अस्पतालों में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी को देखते हुए सरकार इन पदों पर संविदा भर्ती करेगी। हफ्ते भर के भीतर भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। संविदा नियुक्ति एक साल के लिए की जाएगी। सेवाएं अच्छी रहने पर सरकार एक-एक साल कर पांच साल के लिए सेवाएं बढ़ा सकेगी। हालांकि, पांच साल या अधिकतम 70 साल से ज्यादा उम्र तक ही बढ़ाई जा सकेगी।
जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों (सीएचसी) में विशेषज्ञ डॉक्टरों को पोस्ट ग्रेज्युएट मेडिकल ऑफिसरों (पीजीएमओ) को नियुक्त किया जाता है। इन अस्पतालों में विशेषज्ञों और पीजीएमओ के 3297 पद में से 1539 रिक्त हैं। सबसे ज्यादा 453 पद शल्य क्रिया विशेषज्ञ के खाली हैं। मेडिसिन विशेषज्ञ के 440 पद खाली हैं। अस्पतालों में सबसे ज्याादा मरीज इन्हीं के होते हैं। इन पदों को सिर्फ पदोन्नति से भरा जा सकता है। रोक के चलते पदोन्नति नहीं हो पा रही है।
लिहाजा अब संविदा पर भर्ती की तैयारी की जा रही है। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों से हर साल करीब 180 विशेषज्ञों की सेवानिवृति की उम्र 65 साल है। लिहाजा वह पांच साल तक नौकरी कर सकेंगे। हालांकि, इन पदों पर नियमित नियुक्ति होने या कारणों से एक महीने का नोटिस देकर इनकी सेवाएं समाप्त की जा सकेंगी।
किस विषय में कितने विशेषज्ञों के पद खाली
हफ्ते भर के भीतर विशेषज्ञों व पीजीएमओ की भर्ती शुरू हो जाएगी। 15 दिन में पदास्थापना हो जाएगा। काफी डॉक्टर इसके लिए इच्छुक हैं। नियुक्ति होने से अस्पतालों में विशेषज्ञों की कमी दूर हो सकेगी। – कैलाश बुंदेला, अपर संचालक, प्रशासन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *