अब भोपाल एयरपोर्ट तक दौड़ाई जाएगी मेट्रो, 35 हजार लोगों को मिलेगा इसका फायदा

भोपाल। राजधानी में मेट्रो संचालन को लेकर प्रदेश सरकार ने बीते सात माह में तीसरा बड़ा निर्णय लिया है। अब राजधानी में एयरपोर्ट तक मेट्रो के संचालन को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हरी झंडी दी है। गुरुवार को मध्यप्रदेश मेट्रो रेल कंपनी लिमिटेड संचालक मंडल की मंत्रालय में हुई बैठक सीएम ने निर्देश दिए हैं।

बता दें कि इससे पहले राज्य सरकार ने मेट्रो के पांच रूट में से तीन को रद्द करने का निर्णय लिया था। साथ ही दो माह पहले मंडीदीप, औबेदुल्लागंज और सीहोर तक मेट्रो दौड़ाने पर सहमति दी थी। इंदौर के बाद भोपाल मेट्रो का औपचारिक शिलान्यास मुख्यमंत्री कमलनाथ इसी महीने कर सकते हैं।

मेट्रो रेल कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि शहर में फिर में पहले की तरह पांच रूट पर मेट्रो का संचालन होगा। इसके लिए एक बार फिर नए सिरे से प्लानिंग की जाएगी। मंडीदीप रूट व एयरपोर्ट तक रूट पर परीक्षण कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इसमें क्षेत्र की आबादी, जनसंख्या घनत्व, यात्रियों व वाहनों की आवाजाही पर डाटा एकत्रित किया जाएगा। बैठक में इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट को औद्योगिक नगरी पीथमपुर से जोड़ने का भी निर्णय लिया गया है।

नए रूट की अलग से बनेगी डीपीआर

एयरपोर्ट तक मेट्रो संचालन के लिए अलग से डीटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार की जाएगी। मंडीदीप-औबेदुल्लागंज रूट के लिए भी अलग डीपीआर बनेगी।

करोंद से जुड़ेगी एयरपोर्ट मेट्रो

संचालक मंडल की बैठक में मेट्रो के नए रूट में शामिल एयरपोर्ट को करोंद से जोड़ने पर प्रारंभिक सहमति भी बनी है। लाइन-टू के तहत एम्स से करोंद तक मेट्रो को संचालन किया जाना है। एम्स से सुभाष नगर तक सिविल वर्क भी शुरू हो चुका है। रिपोर्ट में अधिकारियों ने बताया कि करोंद स्टेशन से एयरपोर्ट रूट को जोड़ा जाना चाहिए। इसका रूट कैसा होगा और कितने स्टेशन होंगे यह डीपीआर में तय होगा।

35 हजार लोगों को होगा सीधा फायदा

लालघाटी से एयरपोर्ट तक सड़क के दोनों ही ओर सघन रहवासी क्षेत्र के रूप में विकसित हो रहा है। वर्तमान में दोनों ही ओर 40 से अधिक कॉलोनियां है। यहां रहवासियों की संख्या भी 35 हजार से अधिक है। लिहाजा इन क्षेत्रवासियों को यहां सीधा फायदा होगा। हाइवे होने के कारण भी प्रतिदिन यहा 1 लाख वाहनों की आवाजाही होती है। मेट्रो के कारण स्थानीय यातायात भार में भी कमी जाएगी।

एयरपोर्ट व मंडीदीप रूट का हो चुका है फिजिबिलिटी टेस्ट

कंपनी के अधिकारियों व नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह की सहमति के आधार पर बैठक के पहले ही दो नए रूट मंडीदीप और एयरपोर्ट रूट का फिजिबिलिटी टेस्ट पूरा किया जा चुका है। लिहाजा इन रूट पर मेट्रो के लिए डीपीआर संबंधित काम किया जाना ही बाकि है। उधर, सीहोर तक मेट्रो ले जाने के लिए फिटिबिलिटी टेस्ट के बाद ही संचालन का निर्णय लिया जाएगा। बता दें कि फिजिबिलिटी टेस्ट में यह भी देखा जाएगा कि मेट्रो से कितने लोगों को फायदा होगा या यहां मेट्रो चलाना सही होगा या नहीं।

दिल्ली मेट्रो के अधिकारी मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए करेंगे काम

बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि मेट्रो प्रोजेक्ट में किसी भी प्रकार की बाधा नहीं चाहिए। इसके लिए दिल्ली मेट्रो के निर्माण से लेकर संचालन में रहे अधिकारियों को प्रदेश के इंदौर व भोपाल मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए प्रतिनियुक्ति पर लाने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री के साथ बैठक में मुख्य सचिव मंत्री जयवर्धन सिंह, मुख्य सचिव एसआर मोहंती, महापौर आलोक शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

2021 में शुरू हो जाए मेट्रो का संचालन

शहर में मेट्रो संचालन के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने वर्ष 2022 तक का समय निर्धारित किया था। उधर, प्रोग्रेस रिपोर्ट को देखते हुए मुख्यमंत्री ने तय समय सीमा से पहले मेट्रो संचालन के निर्देश दिया है। अधिकारियों से उन्होंने कहा कि 2021 तक मेट्रो पटरी पर नजर आनी चाहिए।

शहर के बाहर होना चाहिए मेट्रो का ऑफिस

बैठक के दौरान सीएम ने शहर से बाहर मेट्रो के लिए ऑफिस बनाने पर जोर दिया है। उन्होंने बैठक में कहा कि इससे बाहरी क्षेत्र में न सिर्फ आवाजाही बढ़ेगी बल्कि संबंधित क्षेत्र का विकास भी हो सकेगा। बता दें कि फिलहाल मेट्रो ऑफिस गोविंदपुरा स्थिति स्मार्ट सिटी कार्यालय से संचालित हो रहा है।

ग्वालियर व जबलपुर में भी मेट्रो के लिए होगा टेस्ट

प्रदेश के चार में से दो महानगरों में मेट्रो संचालन का काम किया जा रहा है उधर, बाकी बचे दो जबलपुर व ग्वालियर में भी मेट्रो संचालन की संभावनाओं को तलाशा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कंपनी को यहां प्री-फिजिविलिटी टेस्ट करने का निर्देश दिया है। टेस्ट की रिपोर्ट के बाद ही ग्वालियर व जबलपुर में मेट्रो संचालन पर निर्णय लिया जाएगा।

इन रूट को किया था रद्द

लाइन 1- बैरागढ़ से अवधपुरी

लाइन 3- भौंरी वायपास से बसंत कुज बस स्टाप

लाइन 4- मदर टेरिसा स्कूल से अशोका गार्डन

इन नए रूट पर मेट्रो को हरी झंडी

– एयरपोर्ट

– मंडीदीप

– औबेदुल्लागंज

इन रूट पर किया जा रहा काम

– लाइन 2- एम्स से करोंद

– लाइन 5- भदभदा से रत्नागिरी

इन शहरों में सर्वे के बाद मेट्रो संचालन का होगा निर्णय

– जबलपुर

– ग्वालियर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *