एनजीओ की आड़ में पैसे वालों को फंसाती थी यह महिला

भोपाल। हनी ट्रैप के मामले में महिलाओं के पकड़े जाने के बाद प्रदेश की सियासत में खलबली मची हुई है। सूत्रों के मुताबिक इस मामले में कई नामों का खुलासा हो सकता है। श्वेता मूलत: सागर की रहने वाली है। वह भोपाल में कई सालों से रह रही है।
2013 विधानसभा के दौरान वह भाजपा से एक राष्ट्रीय स्तर के नेता के मार्फत सागर से विधानसभा का टिकट मांग रही थी, लेकिन उसे टिकट नहीं मिला तो शहर और सत्ता गलियारों से गायब हो गई थी। एटीएस की टीम ने उनसे पूछताछ की तो वह पहले तो एनजीओ के बारे में बताने लगी, लेकिन जब उनसे अफसरों ने सख्ती से सवाल किए तो श्वेता ने बताया कि वह एनजीओ के नाम पर लाइजनिंग करती है।
खास बात यह है कि श्वेता जैन ने भाजपा नेता व विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह के रिवेयरा टाउन के मकान को किराये पर लेते वक्त किरायानामा में अपने आप को फि‍जियोथेरेपिस्ट बताया है। विधायक की ओर से जारी एक किरायानामा में उल्लेख है कि अगर वह कोई गैरकानूनी गतिविधियों में यह पकड़ी गई तो वह खुद जिम्मेदार होंगी।
श्वेता रिवेयरा टाउन के घर के लिए प्रतिमाह 35 हजार स्र्पए किराया देती थी। अभी तक पूछताछ में जानकारी मिली है कि श्वेता अफसरों के बारे में जानकारी एकत्र करती है और उसके बाद उनसे नजदीकी बढ़ाती है। उसके कई सालों से इस तरह के मामले में सक्रिय होने की बात सामने आ रही है।
लक्जरी लाइफस्टाइल देखकर चकित थे पड़ोसी
श्वेता की लाइफस्टाइल देखकर उसके आसपड़ास के लोग भी चकित रह जाते थे। श्वेता के किराये के घर के पास ही रहने वाले एक पुलिस अफसर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि वह काफी रसूख दिखाती थी, हर समय बदल बदलकर गाडियां लेकर आती थी। श्वेता का बेटा भी उसके साथ रिवेयरा टाउन में ही रहता था।
एमएमएस सामने आने के बाद सागर छोड़ा
कभी सागर में भाजपा के आयोजनों में सक्रिय दिखाई देने वाली श्वेता पीली कोठी के पास आयोजित एक धरना प्रदर्शन के दौरान हुए विवाद के बाद चर्चा में आई थी। उसकी तीनबत्ती क्षेत्र में एक रेडीमेड कपड़ों की दुकान भी है। श्वेता भाजपा युवा मोर्चा में सदस्य रही है।
सागर में करीब चार साल पहले उनके एक एमएमएस ने जिले की राजनीति में हलचल मचा दी थी। एमएमएस सामने आने के बाद वह सागर से गायब हो गई और किसी कार्यक्रम में भी नहीं दिखी। इस घटना को लंबा समय होने के बाद वह कभी-कभी सागर में जरूर नजर आई, लेकिन राजनीति से एकदम से किनारा कर लिया था।
मीनाल में श्वेता के पड़ोसियों ने साधी चुप्पी
इस मामले में पकड़ाई एक अन्य महिला श्वेता पत्नी विजय जैन(39) शहर की पॉश मिनाल रेसीडेंसी स्थिति जे-394 में परिवार के साथ रहती है। बुधवार को हुई कार्रवाई में फिल्मी स्टाइल में पहुंची पुलिस ने श्वेता को उसके घर से हिरासत में लिया था।
गुरुवार सुबह घटना के सुर्खियों में आने के बाद से श्वेता के दो मंजिला घर में सन्नाटा पसरा हुआ है। दस्तक देने के बाद भी घर में मौजूद लोग बाहर निकलकर बात करने का तैयार नहीं है। इस मामले में पड़ोसी भी खामोश हैं। वह कुछ भी बताने को तैयार नहीं हैं। हालांकि कुछ लोग श्वेता के घर पर आने वालों की निगरानी कर रहे हैं। साथ ही वह श्वेता के बारे में जानकारी लेने पर कह रहे है कि श्वेता नाम की महिला इस घर में नहीं रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *