केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के बेटे प्रबल को मध्यप्रदेश हाईकोर्ट से मिली जमानत

जबलपुर। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति राजेन्द्र कुमार श्रीवास्तव की एकलपीठ ने केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के बेटे प्रबल पटेल की जमानत अर्जी मंजूर कर ली। इसी के साथ दो माह बाद जेल से बाहर आने का रास्ता साफ हो गया।
मंगलवार को मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान आवेदक प्रबल पटेल की ओर से अधिवक्ता शरद वर्मा व शैलेन्द्र वर्मा ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि 17 जून 2019 को गोटेगांव में एक युवक पर गोली चली थी। रात्रि 11.30 पर हुई घटना को लेकर देर रात 1 बजकर 40 मिनट पर रिपोर्ट दर्ज कराई गई।
इसमें 12 युवकों को आरोपित बना लिया गया। इसमें प्रबल पटेल का भी नाम था। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज व मोबाइल लोकेशन खंगालने के बाद पाया कि चार युवकों के नाम गलती से जुड़ गए हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि घटना के वक्त उनकी लोकेशन जबलपुर की थी।
इसी आधार पर उन चार युवकों के नाम आरोपितों की सूची से अलग कर दिए गए। जबकि प्रबल सहित शेष 8 के खिलाफ अदालत में चालान पेश कर दिया गया। प्रबल को आरोपित इसलिए बनाया गया क्योंकि उसकी लोकेशन गोटेगांव की आई थी।
चूंकि प्रबल एक कद्दावर राजनेता का पुत्र है, अत: दूसरे पक्ष ने जानबूझकर उसका नाम दर्ज कराया। वस्तुस्थिति यह है कि गोलीकांड से प्रबल का कोई सरोकार नहीं था। वह दो माह से जेल में है, अत: उसे जमानत दी जानी चाहिए। कोर्ट ने तर्कों को सुनने के बाद अर्जी मंजूर कर ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *