मध्य प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष की सुगबुगाहट बढ़ी, प्रदेश प्रभारी बाबरिया पहुंचे भोपाल

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रभारी दीपक बाबरिया सोमवार दोपहर भोपाल पहुंचे। पार्टी पदाधिकारी और पुराने दिग्गज नेताओं से उनके यही सवाल थे- बताओ, मप्र में संगठन को फिर खड़ा कैसे करें, पार्टी की भावी कार्ययोजना कैसी हो और यह भी बताएं कि कांग्रेस का प्रदेशाध्यक्ष कैसा हो? रात को उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी इन्ही मुद्दों पर करीब 45 मिनट चर्चा की।

सोमवार की दोपहर राजधानी पहुंचे बाबरिया वीआईपी रेस्ट हाउस में देर रात तक कांग्रेस पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं से मिलते रहे। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष एवं संगठन चुनाव के मुद्दे पर विचार-विमर्श किया गया। मंगलवार को बाबरिया दोपहर दो से शाम छह बजे तक प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में बैठेंगे, जहां वह फिर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ चर्चा करेंगे।

गौरतलब है कि प्रदेश अध्यक्ष को लेकर नए सिरे से शुरू हुई गतिविधियों के चलते बाबरिया की भोपाल यात्रा का महत्व बढ़ गया है। माना जा रहा है कि शीघ्र ही मध्यप्रदेश को नया प्रदेश अध्यक्ष मिल सकता है। मुख्यमंत्री कमलनाथ मई 2018 से इस पद पर काबिज हैं, वे अपने उत्तराधिकारी के तौर पर किसी ऐसे नेता का मनोनयन चाहते हैं, जिससे उन्हें सरकार के कामकाज में संगठन का सहयोग मिले, न कि टकराव बढ़े। इस लिहाज से माना जा रहा है कि वे अपने कैबिनेट सहयोगी बाला बच्चन का नाम आगे बढ़ा रहे हैं। बच्चन पर्याप्त अनुभवी नेता है।

वर्तमान में मंत्री होने के साथ साथ प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। वे अनुसूचित जनजाति वर्ग से जुड़े हुए हैं। कई बार विधायक-मंत्री रहने के कारण उनकी गिनती वरिष्ठ नेताओं में होती है। सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री कमलनाथ 22 अगस्त के बाद दिल्ली जा रहे हैं, जहां उनकी मुलाकात कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से होगी। इस मुलाकात के बाद ही मप्र कांग्रेस के नए अध्यक्ष के नाम का खुलासा होने की उम्मीद है।

नेताओं से वनटूवन चर्चा बाबरिया से मिलकर वन-टू-वन चर्चा करने वाले नेताओं में मंत्री आरिफ अकील, पूर्व मंत्री मुकेश नायक वरिष्ठ नेता प्रतापभानु शर्मा, विनोद डागा, चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी एवं अखंड प्रताप सिंह भी शामिल थे। बताया जाता है कि बाबरिया ने सभी से यही सवाल किया कि संगठन को सशक्त कैसे बनाएं और निचले स्तर तक उसे नए सिरे से खड़ा कैसे किया जाए। उन्होंने प्रदेश में नए अध्यक्ष के चुनाव को लेकर भी सभी नेताओं से सुझाव मांगे। यह भी पूछा कि प्रदेश अध्यक्ष कैसा हो और वे क्या सोचते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *