इस बार पूरे दिन बंधेगी राखी, बहनों को नहीं रहेगी भद्रा की चिंता

ग्वालियर। भाई बहन के प्रेम के प्रतीक का त्योहार रक्षाबंधन इस बार 15 अगस्त गुरुवार को मनाया जा रहा है। हर साल सावन के आखिरी दिन मनाए जाने वाले इस त्योहार के मौके पर बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं और भाई की लंबी उम्र की कामना के साथ साथ उससे अपनी रक्षा का वचन लेती है। इस बार काफी लंबे समय के बाद राखी के मौके पर शुभ मुहूर्त काफी लंबा है। कई सालों के बाद ऐसा होगा जब राखी के मौके पर भद्रा का साया नहीं होगा। ज्योतिचार्य डॉ.एचसी जैन ने बताया कि भद्रा में राखी बांधना शुभ नहीं माना गया है। हालांकि, भद्रा को हमेशा ही अशुभ नहीं माना जाता है।
राखी बांधने का शुभ मुहूर्त
शुभ मुहुर्त इस बार सुबह 5 बजकर 49 मिनट से शुरू होगा और शाम 05ः58 बजे तक बहनें अपने भाई को राखी बांध सकती हैं। वैसे, सुबह 6 से 7ः30 बजे और सुबह 10ः30 बजे से दोपहर 3 बजे तक राखी बांधने का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त है। सावन के पूर्णिमा तिथि की शुरुआत 14 अगस्त दोपहर बाद 3ः45 से ही हो जाएगी और इसका समापन 15 अगस्त शाम 5ः58 बजे को होगा। हर किसी के जीवन में हर रंग का अलग महत्व होता है। डॉ. जैन का कहना है कि इसी के आधार पर यदि आप राशि के मुताबिक अलग अलग रंगों की राखियां अपने भाई की कलाई पर बंधते हैं तो उसका अलग ही महत्व होगा और भाई को आने बाले दिनों में सफलता दिलाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *