अफसरों से बोले कलेक्टर- हफ्ते भर में क्लियर करें शहर के 47 लेफ्ट टर्न और ट्रैफिक सिग्नल

भोपाल। शहर के 47 लेफ्ट टर्न व ट्रैफिक सिग्नल एक सप्ताह में क्लियर करें। पीडब्ल्यूडी, सीपीए व अन्य एजेंसियों की सड़क पर संबंधित एजेंसी से अनुमति लेकर समतलीकरण का काम करें और सड़क को पहले जैसा बनाएं। यह निर्देश सोमवार को कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने समय सीमा की बैठक में अफसरों को दिए। उन्होंने नगर निगम अधिकरियों को तालाब के कैचमेंट एरिया में निर्मित अवैध शादी हाल को तत्काल बंद करने के निर्देश दिए।साथ ही अवैध पार्किंग के खिलाफ भी कार्रवाई करने को कहा।
बैठक में नगर निगम अधिकारियों को निर्देश दिया कि ईदुज्जाुहा के अवसर पर शहर में साफ-सफाई, पानी, विद्युत आपूर्ति एवं सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्थाएं आवश्यक रूप से करें। उन्होंने कहा कि यदि किसी क्षेत्र में कचरा फेंकने के लिए अधिक कंटेनर की आवश्यकता हो तो उस क्षेत्र में कंटेनर रखवाए जाएं। बैठक में सीएम हेल्प लाइन, कलेक्टर की कलम से एवं सीनियर सिटीजन हेल्प डेस्क के लंबित प्रकरणों पर विस्तृत चर्चा करते हुए आवश्यक निर्देश भी दिए।
उन्होंने कहा कि सीनियर सिटीजन हेल्प डेस्क के प्रकरणों का संवेदनशीलता के साथ निराकरण करें। उन्होंने सामूहिक विवाह एवं निकाह सम्मेलन के शादी प्रमाण पत्र प्रदान करने के लिए कार्य प्रणाली में सुधार कर सुगम व्यवस्था बनाए जाने के निर्देश दिए। दिव्यांगों के रोजगार के संबंध में जानकारी लेते हुए कहा कि दिव्यांगों के संबंध में प्रत्येक विभाग चाही गई जानकारी प्रस्तुत करे।सभी अनुविभागीय अधिकारियों से लंबित राजस्व प्रकरणों पर जानकारी ली और निर्देश दिया कि राजस्व प्रकरणों के निराकरण शिविर लगाकर करें। बैठक में कलेक्टर पिथोड़े ने खाद्य, स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, श्रम, विद्युत आदि विभागों के अधिकारियों से लंबित प्रकरणों की समीक्षा की।
चौराहों पर लेफ्ट टर्न क्लियर न होने से लगता है जाम
लेफ्ट टर्न क्लियर न होने से न्यू मार्केट, प्रभात पेट्रोल पंप, गुरुदेव गुप्त चौराहा, प्रगति पेट्रोल पंप, रेत घाट, भारत टॉकीज चौराहा, स्टेट बैंक चौराहा, सरगम टॉकीज चौराहा सहित एक दर्जन से भी ज्यादा चौराहों पर जाम की स्थिति बनती है। इन चौराहों पर प्रतिदिन दो पहिया और चार पहिया वाहन मिलाकर करीब तीन हजार से ज्यादा वाहन निकलते हैं। लिहाजा कई बार तो लंबा जाम भी लग जाता है। वहीं आदर्श चौराहा जैसे रोशनपुरा में हमेशा ट्रैफिक गतिशील रहता है और यहां पर वाहनों का दबाव ज्यादा नहीं पड़ता। इसी तरह की स्थिति बोर्ड ऑफिस चौराहे में भी बनती है, लेकिन यहां लेफ्ट टर्न पर बसें खड़ी होने के कारण जाम लग जाता है और इसका फायदा वाहन चालाकों को नहीं मिल पाता है। बता दें कि कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने विगत दिनों शहर के मुख्य चौराहों का निरीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने पाया कि लेफ्ट टर्न क्लियर होने से शहर का 40 फीसदी ट्रैफिक दबाव कम हो सकता है। वहीं शहर में जाम की समस्या से निजात मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *