विधायक रामबाई के पति का नाम पुलिस ने चालान से काटा, विरोध में हटा बंद

दमोह। देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड मामले में आज हटा बंद है। इस हत्याकांड में पथरिया की बसपा विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह आरोपी थे। लेकिन उनका नाम पुलिस ने चालान से काट दिया है। जिसके विरोध में मृतक कांग्रेस नेता के परिजनों ने आज हटा बंद किया है। सुबह से ही पूरा बाजार बंद है। विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह का नाम एफआईआर से हटाने के विरोध में मृतक कांग्रेस नेता का परिवार हटा में आज से अनशन पर बैठेगा।देवेंद्र चौरसिया के बेटे सोमेश चौरसिया ने गोविंद सिंह की गिरफ्तारी की मांग की है।

बता दें कि 15 मार्च को बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए देवेंद्र चौरसिया की हटा में हत्या कर दी गई थी। इसमें सात मुख्य आरोपी समेत कुल 28 आरोपी बनाए गए थे। जिसमें पथरिया से बसपा विधायक रामबाई के पति गोविंद सिंह का नाम भी शामिल था। इस हत्याकांड के बाद से ही गोविंद सिंह फरार चल रहे थे। पुलिस ने उन पर 25 हजार के इनाम का ऐलान किया था। जिसे बाद में एसपी ने हटा दिया और विधायक से जांच आवेदन लेकर गोविंद सिंह का नाम हटा दिया। पुलिस के इस फैसले से मृतक कांग्रेस नेता का परिवार नाराज है।

बता दें कि बहुजन समाज पार्टी की विधायक रामबाई अपने पति गोविंद सिंह की बेगुनाही के लिए विधायकों का समर्थन जुटा रही हैं। उन्होंने देवेंद्र चौरसिया की हत्या के प्रकरण की छानबीन के लिए एसआईटी गठित कराने की मांग भी की है। उनका दावा है कि इसके समर्थन में वह भाजपा और कांग्रेस के 75 विधायकों के दस्तखत करा चुकी हैं।

चर्चा में रामबाई ने कहा था कि, मैंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से इस मामले में न्याय की मांग की है। इसके लिए वे हर तरह की जांच का सामना करने को तैयार हैं। एसआईटी गठन के लिए ज्ञापन पर वह विधायकों के दस्तखत ले रही हैं। सभी विधायकों का समर्थन हासिल कर वह राज्यपाल और मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपकर एसआईटी से जांच की मांग करेंगी।

वहीं भोपाल में मौजूद रामबाई के पति गोविंद सिंह का भी आरोप था कि, क्षेत्र के भाजपा और कांग्रेस के नेताओं ने उसके खिलाफ साजिश कर आरोपितों में उनका नाम भी जुड़वा दिया, जबकि वह हत्यारों में शामिल नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *