मध्यप्रदेश में आंगनवाड़ी के लिए बजट नहीं, मंत्रियों के बंगलों पर खर्च हो रहे करोड़ों

भोपाल:  मध्यप्रदेश में 20,000 से ज्यादा आंगनवाड़ी केन्द्र बंद होने की कगार पर हैं, क्योंकि सरकार ने उनके किराये के लिए 42 करोड़ की रकम नहीं दी है, लेकिन बात जब मंत्रियों के बंगलों की सजावट की हो तो सरकारी खज़ाना पूरी तरह खुल जाता है.

विधानसभा सत्र के दौरान पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक नरोत्तम मिश्रा के सवाल के जवाब में पता चला है कि मंत्रियों के बंगले को सजाने में 3 करोड़ 68 लाख रुपए खर्च हुए हैं. सबसे ज्यादा 45,30,606 रुपये चार इमली स्थित सूबे के वित्त मंत्री तरुण भनोट के बंगले को सजाने में खर्च किया गया है.

दूसरे नंबर पर पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का नाम आता है, जिनके चार इमली इलाके में स्थित बंगले के मरम्मत के लिये 42.68 लाख रुपये खर्चे गये, तीसरे नंबर पर मुख्यमंत्री कमलनाथ हैं जिनके बंगलों की मरम्मत, साज सजावट पर 33.80 लाख रुपये से अधिक की राशि खर्च की गई.

मंत्रियों के बंगलों पर पुनर्निर्माण-मरम्मत-फेसलिफ्ट कार्यों पर करोड़ों रुपये खर्च करने के मुद्दे पर पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, एक तरफ सरकार कहती है कि पिछली सरकार ने खजाना खाली छोड़ दिया, लेकिन दूसरी ओर यह मंत्रियों के बंगलों के रंग रोगन पर करोड़ों खर्च रही है. ये खर्च तब जब हाल ही में बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री तरुण भनोट ने बताया था कि मध्य प्रदेश पर 31 मार्च 2018 तक 1,52,745 करोड़ रुपए का कर्ज था जो 31 मार्च 2019 तक 1,80,988 करोड़ तक पहुंचने का अनुमान है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *