जब कलेक्टर ने ली बच्चों की क्लास, बड़ा नेक है मकसद

भोपाल। सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने एक अनूठी पहल की है। अब सरकारी स्कूलों में प्रशासनिक अफसर क्लास लेने जाएंगे। सोमवार को खुद कलेक्टर नवीन अरेरा हायर सेकेंडरी स्कूल में बच्चों को पढ़ाने पहुंचे। अपने बीच जिले के मुखिया को पाकर बच्चे भी काफी खुश नजर आए। उन्होंने तालियां बजाकर कलेक्टर साहब का स्वागत किया। कलेक्टर ने दसवीं क्लास के बच्चों को न सिर्फ पढ़ाया, बल्कि उन्होंने बच्चों से पूछा कि आप क्या बनना चाहते हैं। इस पर किसी ने डॉक्टर, कमांडो तो किसी ने कलेक्टर बनने की इच्छा जताई।

इस दौरान जब उन्होंने बच्चों से सवाल पूछा कि आपको सबसे कठिन विषय कौन सा लगता है। तो उधर से जवाब आया अंग्रेजी, गणित और विज्ञान। बस फिर क्या, कलेक्टर साहब ने तीनों विषयों को पढ़ने के लिए अलग से टिप्स दिए। उन्होंने बच्चों को बताया कि गणित में जितना प्रैक्टिस करेंगे। जितने सवाल हल करेंगे। उतना फायदा होगा। वहीं अंग्रेजी की मुश्किल हल करने के लिए उन्होंने ग्रुप डिस्कशन का मंत्र दिया। कलेक्टर तरुण पिथौड़े के अलावा रिटायर्ड आईएएस अफसर माला श्रीवास्तव ने भी ओल्ड चैंपियन स्कूल में बच्चों की क्लास ली और उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं में कामयाबी के टिप्स दिए।

भोपाल कलेक्टर तरुण पिथौड़े से जब इस पहल के पीछे का मकसद पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, “सरकारी स्कूल में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार हो। इसलिए इसकी शुरुआत की गई है। सरकारी अफसर न सिर्फ बच्चों को पढ़ाएंगे, बल्कि उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में भी जानकारी देंगे। वहीं इस कोशिश के जरिए सरकारी स्कूलों का रिजल्ट सुधारने में भी मदद मिलेगी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *