जवानों ने पेश की मिसाल: शहीद की बहन की शादी को बनाया यादगार, पांव के नीचे बिछाईं हथेलियां

रोहतास: दो साल पहले आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुए रोहतास के अशोक चक्र से सम्मानित वायु सेना के गरुड़ कमांडो ‘ज्योति प्रकाश निराला’ की बहन के शादी में शहीदों के कमांडो मित्रों ने जो रस्म अदायगी की वह एक मिसाल बन गई. इस शादी में शहीद के दर्जनों मित्र शामिल हुए. अपने शहीद दोस्त की बहन की शादी में इन जवानों ने एक भाई का फर्ज निभाते हुए विदाई के समय दुल्हन के पांव को जमीन पर नहीं रखने दिया. जहां-जहां दुल्हन के पांव पड़ते थे, उससे पहले शहीद के मित्र जवानों ने अपने हथेलियां बिछा दीं. वायुसेना के अन्य गरुड़ कमांडो के हथेलियों पर पांव रखकर शहीद की बहन जब विदा हुई तो पूरा गांव गर्व से आह्लादित हो उठा. शहीद की बहन दुल्हन शशिकला कहती हैं कि आज जब उसकी शादी हो रही थी, तो उसके भाई की कमी उसे महसूस नहीं होने दिया गया. ऐसी गौरवमयी विदाई पाकर दूल्हा सुजीत कुमार भी हैरान दिखा.
रोहतास के बादीलडीह के रहने वाले ज्योति प्रकाश निराला दो साल पहले जम्मू-कश्मीर में छह आतंकियों को मारकर खुद शहीद हो गए थे. मरणोपरांत राष्ट्रपति ने उन्हें अशोक चक्र से सम्मानित भी किया था. शहीद ज्योति प्रकाश भाईयों में अकेले थे और तीन कुंवारी बहनें थीं. जिनमें जब शशिकला की शादी हो चुकी है. शहीद जवान के 20 से अधिक गरुड़ कमांडो जो उनके मित्र थे, शादी में पहुंचकर भाई का फर्ज अदा किया. शादी का बहुत खासा खर्च भी उठाया. साथ ही शहीद के बहन की ऐसी विदाई दी, जो आसपास के इलाके के लिए मिसाल बन गई. शहीद के पिता को इस पर गर्व है. वो कहते हैं कि आज मेरा बेटा मेरे पास नहीं है, फिर भी उसके बेटे के दोस्तों ने भाई का फर्ज अदा किया.
शहीद ज्योति के बहन की शादी डेहरी के पाली रोड में सुजीत के साथ हुई है. इस शादी का वीडियो सोशल मीडिया पर भी खूब शेयर किया जा रहा है. लोग जवानों के इस प्रयास की जमकर सराहना कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *